[ निबंध ] पुस्तक के महत्व पर हिंदी में निबंध | Essay on Importance of Books In Hindi | पुस्तक पर निबंध

दोस्तों किताबे पहले से ही किसी भी विद्यार्थी की बहुत अच्छी मित्र होती है। आज से ही नहीं प्राचीन काल से बड़े - बड़े ऋषि मुनियो तथा गुरुकुलों में किताबो को बहुत महत्व दिया है।

पुस्तक तथा उसके महत्त्व पर निबंध हिंदी में

दोस्तों हमारे जीवन में पुस्तकों का बहुत महत्व होता है ,हम जो कुछ भी आज जानते है ,वो ज्ञान हमें किताबो के माध्यम से ही प्राप्त होता है। आज की शिक्षा प्रणाली में पुस्तकों को बहुत अधिक महत्व नहीं दिया जाता है, परन्तु हम जितना अधिक पुस्तकों को महत्त्व देंगे।



पुस्तके हमें उतना ही अधिक ज्ञान प्रदान करती है। जो भी महान लोग इस धरती पर पैदा हुए है ,उन्होंने अपना सम्पूर्ण ज्ञान तथा अनुभव इन्ही Books में समाहित किया है।

और यही नहीं बल्कि आज इन्ही पुस्तकों की वजह से हमारी शिक्षा प्रणाली सुचारु रूप से चल पा रही है ,तो आज के इस निबंध में हम हमारी प्यारी मित्र किताबो पर निबंध Essay on Importance of books लिखेंगे। 

Pustak pr Nibandh in Hindi | पुस्तक के महत्व पर निबंध हिंदी में 

प्रस्तावना ( Introduction ):

हम सभी जानते है ,की आज का युग ज्ञान - विज्ञान का युग है,आज के इस जमाने में जो भी ज्ञान हमें प्राप्त होता है, उसमे से अधिकतर हम इंटरनेट के माध्यम से प्राप्त करते है। 

इसके अलावा ज्ञान प्राप्त बहुत से माध्यम है, जैसे E-BOOK , YOUTUBE , GOOGLE इत्यादि के माध्यम से भी हम ज्ञान अर्जित करते है। परन्तु आज के इस टेक्नलॉजी के समय में भी किताबो का बहुत अधिक महत्व है, इन किताबो में जो ज्ञान तथा अनुभव छिपा हुआ है। 

उस ज्ञान तथा अनुभव की तुलना हम बाकि के दूसरे माध्यमों से नहीं कर सकते है ,क्योकि किताब में एक लेखक के ज्ञान का पूरा निचोड़ आत्मिक रूप से होता है। जबकि दूसरे माध्यमों जैसे इंटरनेट से प्राप्त ज्ञान को अधिकतर इंसानो द्वारा नहीं लिखा जाता है।

किसी भी महापुरुष के  सम्पूर्ण सार हमें उनकी किताब में मिल जाता है ,जिसकी सहायता से हम उनके जीवन को गहराई से जान सकते है। 

पुस्तकों का महत्त्व ( Importance of books ):

Importance of Books यदि हम हमारे जीवन में किताबो के महत्व की बात करे ,तब हम यह पाते है ,की चाहे वो किताब किसी स्कूल की हो अथवा किसी भी महापुरुष के जीवन पर आधारित किताब हो। 
पुस्तक का महत्त्व हिंदी मे

प्रत्येक पुस्तक अपने आप में कुछ कहती है ,और इस भाषा को केवल एक सच्चा "पुस्तक प्रेमी" ही सुन सकता है। किताबो को किसी भी विधार्थी का सबसे अच्छा मित्र माना जाता है। लेकिन आज के इस टेकनोलोजी के जमाने में इन्ही प्यारी पुस्तक मित्रो की जगह गूगल। 

यूट्यूब और बहुत से गजेटो ने ले ली है, जिस जिस कारण से हम अपनी संस्कृति से दूर होते जा रहे है ,दोस्तों आज जितने भी सफल व्यक्ति है, उन सभी में एक आदत समान है। 

किताबे पढ़ना और बहुत सारी किताबे पढ़ना। किताबो में बहुत से महापुरुष अपने सम्पूर्ण जीवन का निचोड़ डाल देते है। 

यदि हम बात करे हमारे देश के भूतपूर्व राष्ट्रपति "डॉक्टर एपीजे अब्दुल कलाम " की तो उन्होंने बहुत सारी किताबो में अपने जीवन का उद्देश्य बताया उनकी कुछ किताबे इस प्रकार है - INDIA 2020 1998 , WINGS OF FIRE 1999 , IGNITED MINDS 2002 , MISSION OF INDIA 2005 इत्यादि। 

पुस्तक का जीवन पर प्रभाव :

 यदि हम बात करे किसी भी पुस्तक के किसी भी व्यक्ति के जीवन पर प्रभाव की तब हम यह कह सकते है। की हां कुछ पुस्तके किसी व्यक्ति के जीवन में बहुत हद तक परिवर्तन ला सकती है। 

 क्योकि जब भी कोई व्यक्ति किसी भी महापुरुष के जीवन के बारे में किसी भी पुस्तक में पढता है ,तब वह उस महापुरुष सिद्धांतो को अपने जीवन में उतारता है। जिसके बाद उस व्यक्ति के जीवन में उस महापुरुष का प्रभाव देखने को मिलने लगता है। 

बहुत से सफल व्यक्ति है ,उन्होंने ने भी कही न कही किसी अच्छी किताबो से शुरुआत की थी ,उसी एक निर्णय के कारण आज वो सफलतम व्यक्तियों की श्रेणी में आते है ,हमारे भारत के सबसे अमीर आदमी MUKESH AMBANI  मुकेश अम्बानी भी बहुत सी किताबे पढ़ना पसंद करते है ,

इतने सफल व्यक्ति होने के बाद भी जब कोई व्यक्ति किताबे पढ़ने का सुझाव देता है ,तब हमें इस बात को समझना चाहिए की ,किताब पर निबंध, किताबे हमारे जीवन में कितनी अधिक महत्वपूर्ण है तथा किताबे हमारे जीवन पर कितना अधिक प्रभाव डालती है। 

पुस्तक पर महापुरुषों के विचार:

यदि आप देखोगे की किसी भी महापुरुष जिन्होंने अपने जीवन में दुसरो के लिए आदर्श स्थापित करने वाले काम किये है। वो भी अपने जीवन का सार किसी न किसी किताब के द्वारा ही सभी के पास पहुंचाते है। 

प्रत्येक महापुरुष प्रत्येक व्यक्ति को अपने जीवन में सफल होने के लिए किताबे पढ़ने तथा सफल व्यक्तियों के साथ रहने के लिए कहते है। परन्तु हम हमारे जीवन में सभी सफल व्यक्तियों के साथ तो नहीं रह सकते है। इसलिए यदि हमें सफल व्यक्तियों के साथ रहना है। 

तब हमें उनकी किताबे पढ़ना चाहिए ,क्योकि यदि हम उनकी किताबे पढ़ते है ,तब हमारा सोचने का तरीका बिलकुल उनकी तरह हो जाता है  जिसकी  वजह से हम भी उनके जैसे काम करने लगते है। 

जब भी आपको किसी भी महान व्यक्ति के जीवन में सोचने के तरीके उनके संघर्षो ,तथा उनके सफर के बारे में जानना हो ,तब आपको उनकी किताबो को पढ़ना चाहिए। 

पुस्तकों के प्रकार ( types of books ):

हमारे जीवन में जब भी हम किसी भी चीज के प्रकारो के बारे में सोचते है ,तब हमारे दिमाग में सबसे पहले यही बात आती है। की प्रत्येक काम के लिए अलग - अलग प्रकार के साधन होते है। ठीक उसी प्रकार पुस्तकों के भी कई सारे प्रकार होते है ,जो इस प्रकार है -
  1. पाठशाला की किताबे 
  2. सफल व्यक्तियों की किताबे 
  3. विशेष कार्य की पुस्तके 

  • पाठशाला की पुस्तके :-

आपको तो भली भांति ही ज्ञात होगा की स्कूल की किताबे किस काम में आती है ,वो हमें नैतिक शिक्षा तथा संस्कार प्रदान करती है। हमें किस प्रकार से हमारे जीवन में एक सामाजिक व्यक्ति बने तथा एक समृद्ध समाज का निर्माण करे। 

  • सफल व्यक्तियों की किताबे :-

ये किताबे उन सफल व्यक्तियों द्वारा अथवा उनके ऊपर लिखी जाती है ,जिन्होंने अपने जीवन में आदर्श स्थापित करने वाले काम किये है। इनकी पुस्तके वो लोग पढ़ते है ,जिन्हे अपने जीवन में कुछ बड़ा हासिल करना है तथा सफल होना है। 

इस सफल व्यक्तियों की किताबो से हमें उन सभी लोगो के अनुभव तथा गलतियों के बारे में पता चलता है ,जो गलतिया इन्होने सफल होने के दौरान की थी। 

इन किताबो को पढ़ना का सबसे बड़ा फायदा यह है ,की हम उन सभी गलतियों को करने से बच जाते है ,जो इन्होने की थी ,तथा हम कम समय में सफल हो सकते है। 

  • विशेष कार्य हेतु किताबे:-

 ये किताबे उस विशेष कार्यो अथवा मकसद से लिखी जाती है ,जो घटना घटित हो चुकी है ,जैसे किसी देश की अर्थव्यवस्था अथवा किसी व्यक्ति विशेष की जीवनी हो। 

इन किताबो के माध्यम में समाज को जागरूक किया जाता है ,इन किताबो की श्रेणी में सबसे पहले स्थान पर वो श्रेष्ठ किताबे अथवा ग्रन्थ आते है ,जो समाज को सही दिशा प्रदान करते है ,जैसे रामायण ,भगवतगीता इत्यादि। 

उपसंहार  -

 पुस्तक चाहे कैसी भी हो या कोई भी हो वो हमेशा व्यक्ति के ज्ञान में वृद्धि ही करती है ,कोई भी पुस्तक किइस भी व्यक्ति के जीवन में लाभ ही करती है। बहुत से महान व्यक्ति आज के इस तकनीक के जमाने में भी सभी को किताबे पढ़ने की ही सलाह देते है। 

फिर चाहे वो डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम हो ,चाहे वारेन बफेट या बिल गेट्स सभी अपने जीवन में बहुत किताबे पढ़ते थे। इसी एक आदत के कारण उनके पास दूसरे लोगो के मुकाबले बहुत सारा ज्ञान एकत्रित हो गया है, और इसी ज्ञान  प्रयोग करते हुए वे सभी अपने जीवन में शीर्ष पर पहुंच चुके है।

हमें भी अपने जीवन में किताबो को सन्मान देना चाहिए तथा एक अच्छी सी किताब पढ़ने की आदत हमारे अंदर लानी चाहिए। 

उम्मीद है आपको ये आर्टिकल Essay on Importance of Books In Hindi अवश्य ही पसंद आया होगा। 

हमारे लेटेस्ट आर्टिकल:
और नया पुराने