गुस्सा कम (Control) कैसे करे 5+ Tips In Hindi | How To Control Anger Tips In HIndi

दोस्तों जीवन में हमेशा ही ऐसी स्थितियां आती है ,जब हम प्रायः गुस्से ( Anger ) का शिकार हो जाते है ,और इसके बाद हमें मजबूरन ही गुस्सा करना पड़ता है या फिर गुस्से का शिकार होना पड़ता है। 

आजकल की इस तनाव भरी जिंदगी में समय -समय पर गुस्सा आना स्वाभाविक सी बात होती है। आज जिसे देखो वो व्यक्ति भी तनाव और डिप्रेशन का शिकार है ,

और इसी के कारण व्यक्ति का स्वभाव भी चिड़चिड़ा हो जाता है और इस चिड़चिड़ेपन के कारण और भी गुस्सा करने लगता है ,

या यु कहे की ये प्रक्रिया निरन्तर एक चक्र की भांति चलती रहती है। 

आज के इस आर्टिकल में हम गुस्सा कम करने के उपाय gussa kaise kam kare tips in hindi  देखेंगे और साथ ही हम इसके दुष्परिणामों पर भी प्रकाश डालेंगे। 

मानव जीवन में प्यार और गुस्सा दोनों बहुत ही अहम भूमिका निभाते है ,

यदि इनमे से कोई सा भी ज्यादा अथवा कम हो जाता है ,तब हमारे जीवन और मानसिक संतुलन बिगड़ने लगता है। 

इस  आर्टिकल में हम कुछ ऐसे गुस्सा कम करने के उपायों पर भी चर्चा करेंगे , जिनके उपयोग से आप तुरंत ही परिणाम महसूस करेंगे। आप पढ़ रहे है : Gussa kaise Control Kare in Hindi.

1. गुस्सा आने पर गहरी सांसो का प्रयोग करे -Use Deep Breaths When You Angry :

यह एक सिंपल और आसान तरीका है ,अपने गुस्से को ठंडा करने का इसमें आपको जब भी ऐसी स्थिति आये या आपको लगे की आपको गुस्सा आ रहा है , तब आपको स्वयं में ध्यान लगाना है ,

और समझदारी के साथ गहरी -गहरी साँसे लेनी है , जिससे आपके कॉन्शियस माइंड का ध्यान गुस्से से हट जायेगा और आपकी सांसो पर ध्यान लगाएगा। 

जब आप पहली बार यह करने की कोशिश करेंगे तब आपको , यह बड़ा ही अजीब लगेगा और आपको यह लगेगा की यह क्या कर रहा हूँ में , 

परन्तु कुछ ही दिनों के अभ्यास के बाद आप किसी भी तनाव और गुस्से वाली स्थिति में आते ही , स्वतः गहरी सांसे लेने लगोगे। 

या तो आप यह कर सकते है ,की जब आपको गुस्सा आये तब आप एक से पांच तक की गिनती गिनने लागिये ,

जिससे आपका सारा ध्यान गिनती गिनने लग जायेगा और आपका पूरा ध्यान गुस्से से अपने आप ही हट जायेगा और जैसे ही पांच से दस सेकण्ड का समय होते ही आप स्वतः ही अपनी पहली स्थिति में आ जाओगे। 

यह तरीका वैसे तो लगभग सभी लोगो पर काम करता ही है , यदि आपको ऐसा लगे की तरीका आपके लिए नहीं है ,

तब आपको चाहिए की आप पुरे मन से इसकी प्रैक्टिस करे और करते रहिये ,क्योकि प्रेक्टिस व्यक्ति को परफेक्ट बनाती है। 

2. स्वयं को समझाए यह केवल एक परिस्थिति है -Explain yourself it's just a situation :

जब भी आप किसी इसी स्थिति में होते हो ,जहा आपको लगता है ,की यह क्या हो रहा है ,तब स्वयं से यह कहिये , यह मात्र केवल एक स्थिति मात्र है। 

क्योकि जब कोई भी व्यक्ति तनाव अथवा ऐसी ही कोई घुटन वाली स्थिती में होता है ,तब उसके मन में अनेको तरह के बुरे तथा नकारात्मक विचार आते है। 

तब इस स्थिति में आपको यह चाहिए की आप स्वयं को यह समझाये की यह केवल स्थिति मात्र ही है। इससे अधिक और कुछ भी नहीं है। 

जब आप किसी भी कठिन परिस्थिति में होते हो ,जब आप स्वयं से केवल यह कहिये की यह जीवन में आने वाले प्रत्येक प्रकार के समय आते है ,

उनमे से एक टाइम ही है। जो समय के साथ स्वतः ही पीछे निकल जायेगा। 

बस आपको इस कठिन समय अथवा जिस भी स्थिति में आपको गुस्सा आने लगे अथवा आ जाये तब खुद को कन्वेंस करे की आप अपन आपा नहीं खोए। 

3. गिल्टी महसूस न कीजिये बल्कि सुधार की आशा रखे -Don't feel guilt, hope for improvement :

अपने आपको किसी भी स्थिति अथवा गुस्सा आने के बाद स्वयं को गिल्टी महसूस करना सबसे बुरी बात होती है। 

क्योकि यदि आप स्वयं को गिल्टी महसूस करवाते हो ,

तब आप अपने माइंड ( दिमाग ) को यह सन्देश देते है ,की आप किसी भी स्थिति को झेलने के काबिल हो ही नहीं। 

तो सबसे पहले आपको चाहिए ,की आप स्वयं को अपनी ही नजरो में कम मत आंकिये।

 क्योकि किसी भी काम में अथवा गुस्से की स्थिति में स्वयं को गिल्टी महसूस होने ही न दे। 

आप सिर्फ आमने आपको यह कहिये की में किसी भी स्थिति में अपने आपको संभल सकता हूँ , में किसी भी स्थिति को अपने काबिलियत से सॉल्व कर सकता हूँ। 

आपको चाहिए की आप दैनिक अफर्मेशन का प्रयोग रोजाना करिये इसके लिए आप संदीप माहेश्वरी जी का Daily अफर्मेशन वाला वीडियो देख सकते है। 

इसमें आप कुछ ऐसे सकारात्मक शब्दों अथवा वाक्यों को समझेंगे जो आपको किसी भी बुरी हालत अथवा गुस्से से निकलने में बहुत मदद मिलेगी। 

4. योग करने का अभ्यास करे -Practice Doing Yoga :

पिछले कुछ वर्षो से भारत में योग करना बहुत ही तेजी के साथ प्रचलित हुआ है। और हो भी क्यों नहीं , क्योकि इसके फायदे ही इतने कमाल के जो है।

 योग एक ऐसी क्रिया है, जो आत्मा तथा शरीर का योग करती है और साथ के साथ मन तथा मष्तिष्क का भी योग करते है। 

परन्तु हम यह गुस्सा कम कैसे करे उस विषय पर बात कर रहे है। तब  में आपको बता दू की अपने भीतर के तनाव तथा गुस्से को कम करने में योग का ख़ासा महत्व है। 

आपको चाहिए की आपको जब भी गुस्सा अथवा तनाव की स्थिति हो तब अथवा सुबह से प्राणायाम का अभ्यास करे। 

अभी पिछले एक दो वर्षो में हमारे देश के प्रधान मंत्री जी द्वारा तथा योग गुरु द्वारा योग को शरीर की तमाम चिंताओं विकारो का जड़ से उपाय बताया है। 

योग को आप करेंगे उसके पश्चात् योग आपके शरीर और आपकी आत्मा का योग करेगा ,

जिससे आप अपने व्यक्तित्व के उच्चत्तम स्तर पर होंगे और आपको ये तुच्छ सी चीज़े कभी नहीं सतायेंगी।

निष्कर्ष :

दोस्तों जीवन एक सफर की तरह है ,यह बहुत से रोड आते है कोई से रोड बहुत ही अच्छी क्वालिटी के होते है ,तो कुछ रोड में खड्डे तथा स्पीड अवरोधक लगे होते है ,

यह ठीक उसी प्रकार है, जिस प्रकार से हमारे  जीवन में तनाव ,गुस्से टेंशन के स्पीड ब्रेकर आते रहते है। इसलिए जिंदगी को अपनी शर्तो पे जिए न की जिंदगी की शर्तो के अनुसार खुद को ढाल ले। 

जीवन में हमेशा ही ऐसे कई प्रोब्लेम्स आएंगी और आती रहेगी और समय के साथ चली भी जाएँगी ,परन्तु आप तो आप ही हो और आप वही रहोगे।

You are Reading : गुस्सा कम (Control) कैसे करे 5+ Tips In Hindi || How To Control Anger Tips In HIndi

आपका कीमती समय देने के लिए धन्यवाद् !!🙏🙏


और नया पुराने